बंगाल में शनिवार से ही हो जाएगी अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती

0
52
बंगाल चुनाव में चौथे चरण तक 2016 के मुकाबले दारू, ड्रग की 640 गुना अधिक बराबदगी हुई है। 46.76 करोड़ नकद बरामद किये गये हैं।
बंगाल चुनाव में चौथे चरण तक 2016 के मुकाबले दारू, ड्रग की 640 गुना अधिक बराबदगी हुई है। 46.76 करोड़ नकद बरामद किये गये हैं।
  • डी. तृष्ण राव

कोलकाता। बंगाल में शनिवार यानी कल से ही अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती शुरू हो जाएगी। चुनाव आयोग ने अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती का निर्देश दिया है। विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के पहले से ही जिस तरह चारों बंगाल में आतंक का वातावरण है, उससे निपटने के लिए चुनाव आयोग  शनिवार को ही राज्य में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती कर रहा है। इसके बाद 25 फरवरी तक राज्य में 125 कंपनी अर्द्धसैनिक बल तैनात  कर दिया जाएगा।  125 कंपनी में सीआरपीएफ,  सीआईएसएफ,  बीएसएफ, एसएसबी, आइटीबीपी  के जवान शामिल हैं।

चुनाव  घोषणा के पहले ही  राज्य में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती  का भाजपा समेत सभी विपक्षी दलों ने सराहना की है। भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस  चुनाव घोषणा के महीना भर पहले से ही अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की मांग कर रहे थे। चुनाव आयोग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 125 कंपनी अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती माओवादी और  भारत-बांग्लादेश सीमा से सटे हुए इलाकों में की जाएगी। इसके अलावा राज्य के 18880 अति  संवेदनशील बूथों पर ये तैनात रहेंगे।

- Advertisement -

अर्द्धसैनिक बलों का पहला जत्था बीरभूम पहुंचेगा

अर्द्धसैनिक बलों का पहला जत्था  बीरभूम पहुंचेगा और वहां के अति संवेदनशील बूथ एरिया में  रविवार से ही रूट मार्च का काम शुरू करेगा। मालूम हो कि कल केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नामथाना की  सभा में कहा था कि इस बार विधानसभा चुनाव में सड़कों पर टीएमसी का एक भी गुंडा नहीं होगा। उनकी इस घोषणा के बाद आज  अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की घोषणा हुई है।

एसपी-डीएम हर दिन की रिपोर्ट चुनाव आयोग को देंगे

चुनाव आयोग से मिली खबर के मुताबिक  इस बार किस इलाके में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती हो रही है, उसकी पूरी खबर चुनाव आयुक्त  तक पहुंचाना हर एक एसपी और जिला शासक की जिम्मेदारी होगी। रोज रात 8 बजे तक  उस दिन अर्द्धसैनिक बलों द्वारा एरिया डोमिनेशन का वीडियो और साइट पर अपलोड करना  अत्यंत जरूरी है। अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती को लेकर भी इस बार चुनाव आयोग काफी कड़ा रुख अपनाते दिख रहा है। आयोग ने यह भी कहा है कि अगले दिन अर्द्धसैनिक बल के एरिया डोमिनेशन का कार्यक्रम कहां होगा, एक दिन पहले ही चुनाव आयोग को इसकी जानकारी देनी होगी। इसको लेकर चुनाव आयोग द्वारा एक फॉर्मेट बनाया गया है। कुछ गाइडलाइन भी दे दिया गया है। इस गाइडलाइन को हर जिला के एसपी, जिला शासक  और ब्लॉक लेवल के अधिकारी तक पहुंचाया जाएगा।

कोलकाता में 200 कंपनी अर्द्धसैनिक बल तैनात होंगे

चुनाव आयोग के मुताबिक  इस बार कोलकाता में ही 200 कंपनी अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती होगी। और पूरे चुनाव के दौरान लगभग 1000 कंपनी अर्द्धसैनिक बलों की  तैनाती होगी। कुल 3 चरणों में अर्द्धसैनिक बलों को राज्य में उतारा जाएगा। चुनाव की घोषणा होने के पहले 125 कंपनी, बाद में दो चरणों में  बाकी 875 कंपनी को राज्य में लाया जाएगा। इनेके खाने-पीने और रहने की व्यवस्था  राज्य सरकार की ओर से किया जाएगा। इस पर भी चुनाव आयुक्त कड़ी नजर रखेगा।

बंगाल में कहां कितने अर्द्धसैनिक बल की तैनाती होगी

बंगाल के सिलीगुड़ी- 3 कंपनी एसएसबी, कालिम्पोंग- 3 कंपनी एसएसबी, अलीपुर द्वार- 2 कंपनी एसएसबी, जलपाईगुड़ी- 2 कंपनी बीएसएफ और 1 कंपनी एसएसबी, इस्लामपुर- 2 कंपनी बीएसएफ रायगंज- 2 कंपनी बीएसएफ, दक्षिण दिनाजपुर- 2 कंपनी बीएसएफ, माल्दा- 5 कंपनी बीएसएफ, मुर्शिदाबाद- 5 कंपनी बीएसएफ, जंगीपुर- 2 कंपनी बीएसएफ, कृष्णानगर- 3 कंपनी बीएसएफ, रानाघाट- 2 कंपनी बीएसएफ, हावड़ा- 6 कंपनी सीआरपीएफ, हुगली- 4 कंपनी सीआरपीएफ की तैनाती होगी।

यह भी पढ़ेंः चुनाव आयोग ने BSF और CRPF को भी सुरक्षा की गारंटी मांगी(Opens in a new browser tab)

- Advertisement -