फेसबुक ने लालू के घर मचा रखा है कोहराम, कहीं बिखर न जाये कुनबा

0
161

पटना। सोशल मीडिया कई लोगों के लिए वरदान है तो कुछ के लिए अभिशाप भी। खासकर लालू प्रसाद के कुनबे के लिए यह अभिशाप ज्यादा सिद्ध हो रहा है। आशंका है कि फेसबुक उनके परिवार के विघटन का कारण न बन जाये। कहानी लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से शुरू होती है। कुछ दिन पहले ही तेज प्रताप ने लिखा था कि कुछ लोग राजद को नुकसान पहुंचा रहे हैं। उनकी बात पार्टी में नहीं सुनी जाती है। कल उनके फेसबुक वाल पर इसी तरह की पीड़ा फिर उभरी। लिखा था कि उनकी बात लालू जी भी नहीं सुनते और अब तो उनकी मां भी उन्हें भाव नहीं देतीं। पार्टी के कुछ नेताओं पर उन्होंने गंभीर आरोप लगाये, जो उनके घर के करीबी समझे जाते हैं। हालांकि हर बार विवादित पोस्ट लगने के कुछ देर बाद हटा भी ली जाती है। कल भी ऐसा ही हुआ। उन्होंने न सिर्फ पोस्ट हटाया, बल्कि ठीकरा भाजपा के माथे फोड़ा कि भाजपा के लोग उनका बार-बर फेसबुक एकाउंट हैक कर ऐसा कर रहे हैं। भाजपा वाले उनका घर फोड़ना चाहते हैं। राजद विधायक भाई विरेन्द्र ने इस प्रसंग पर कहा है कि दोनों भाइयों और परिवार में सबकुछ ठीक है।

तेजप्रताप ने सोमवार की देर शाम कहा था कि मेरा सोशल मीडिया अकाउंट हैक कर लिया गया है। तेजप्रताप के पोस्ट पर बिहार की सियासत गर्म हो गई थी। तेजप्रताप के एफबी पर पोस्ट शेयर किया गया था, जिसमें यह लिखा हुआ था दो नेता मेरे बारे में अफवाह उड़ाकर मेरी छवि खराब करना चाहते हैं। साथ ही एफबी पोस्ट पर लिखा हुआ था कि मुझे पागल, सनकी और जोरू का गुलाम बताया जा रहा है।

- Advertisement -

बहरहाल, तेज प्रताप के पोस्ट पर जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि आरोप मढ़ना बंद करिये। साहस तो पुलिस कम्प्लेन करके दिखाइए। वहीं भाजपा नेता मंगल पांडेय ने कहा कि कि तेजप्रताप यादव की पीड़ा सबके समाने आ गई है। उन्होंने कहा कि अगर हैक किया गया है तो केस करें, लेकिन वह केस नहीं करेंगे। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि पुत्र धर्म का निर्वाह करते हुए उन्होंने अपना पोस्ट हटा लिया है।

इस बीच सोमवार की शाम तेज ने अपने वाल पर एक फोटो डाली है, जिसमें खिड़की से एक पोस्टर दिखाते तेज प्रताप नजर आ रहे हैं। पोस्टर में नीतीश की नो एंट्री लिखा है।

- Advertisement -