निर्भया गैंग रेप के दोषियों को फांसी पर सुशील मोदी ने संतोष जताया

0
13
GST जमा करने की समय सीमा बढ़ायी गयी, सुशील कुमार मोदी की घोषणा
GST जमा करने की समय सीमा बढ़ायी गयी, सुशील कुमार मोदी की घोषणा

पटना। निर्भया गैंग रेप के चार दोषियों को फांसी दिये जाने पर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी संतोष जाहिर किया है। सात साल से मामला चल रहा था। उन्होंने कहा है कि निर्भया कांड के चारों अपराधियों को फांसी से कानून के लोगों का भरोसा बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि अपराधियों को फांसी मिलने से महिलाओं ने राहत की सांस ली है। अब सभी राज्यों के सहय़ोग से कानून में ऐसा परिवर्तन किया जाना चाहिए, जिससे गैंगरेप जैसे अपराध के दोषियों को फांसी देने में कई सालों का लंबा वक्त न लगे।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने धारा-370, 35A हटाने और तीन तलाक प्रथा खत्म करने में सक्रियता दिखायी। अब गैंगरेप मामले में जल्दी न्याय दिलाने का रास्ता भी साफ होना चाहिए। उन्होंने उम्मीद जतायी कि ऐसा इसलिए संभव है, क्योंकि मोदी हैं, तो मुमकिन है।

- Advertisement -

उन्होंने आरजेडी को इसी बहाने लपेटे में लिया। उन्होंने कहा कि नाबालिग से बलात्कार के मामले में अभियुक्त संदेश के  विधायक अरुण यादव छह महीने से फरार चल रहे हैं। इन्होंने एक ही दिन में राबड़ी देवी के 4 फ्लैट खरीदे थे। राजद यदि महिलाओं के विरुद्ध अपराध रोकने के प्रति गंभीर है और अपराधियों को कड़ा संदेश देना चाहता है, तो उसे अपने विधायक की गिरफ्तारी में कानून की मदद करनी चाहिए।

अपने ट्विट में श्री मोदी ने कहा कि कोरोना जैसी घातक बीमारी से बचाव ही सबसे अच्छा इलाज है। वह जन भागीदारी से ही संभव है। जेपी आंदोलन के समय भी जनता को जोड़ने के लिए जनता कर्फ्यू का प्रयोग हुआ है, इसलिए उस दौर के लोगों को केवल राजनीति के लिए इसका विरोध नहीं करना चाहिए। जनता कर्फ्यू देश को बड़े नुकसान से बचाने का मानसिक पूर्वाभ्यास है।

यह भी पढ़ेंः निर्भया रेप कांड की वकील सीमा कुशवाहा को सलाम!

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू की जो अपील की है, उससे आम लोगों में जागरूकता बढेंगी। सरकार के स्तर पर टास्क फोर्स बनाने और सैनिटाइजेशन का अभियान चलाने जैसे कई उपाय किये गए हैं।

यह भी पढ़ेंः COVID 19 : कोरोना के चलते देश के कई बड़े मंदिर बंद

- Advertisement -