निर्भया के साथ दरिंदगी करने वाले 22 को लटक जाएंगे फांसी पर

0
21
निर्भया कांड के ये चार दरिंदे
निर्भया कांड के ये चार दरिंदे

दिल्ली/ पटना। निर्भया के दरिंदों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया बलात्कार कांड में सभी चार दोषियों का डेथ वारंट जारी कर दिया है। तिहाड़ जेल में 22 जनवरी को फांसी देने का जो फैसला सुनाया है, उससे न्यायपालिका में आम लोगों का भरोसा बढ़ेगा। फैसला देर से आया, लेकिन इससे राजनीतिक सरपस्ती वाले बलात्कारियों को भी कड़ा संदेश जाएगा। बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने फैसले पर संतोष जताया है।

उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि राजद के पूर्व विधायक राजबल्लभ यादव नाबालिग छात्रा से बलात्कार के मामले में सजायाफ्ता हैं और एक विधायक अरुण यादव ऐसे ही मामले में अभियुक्त होने के बाद फरार चल रहे हैं। महागठबंधन के लोग इन पर चुप्पी साधे हुए हैं, लेकिन  कानून के फंदे से ये बच नहीं पाएंगे।

- Advertisement -

श्री मोदी ने जेएनयू विवाद पर भी ट्वीट किया है। उन्होंने कहा है कि जेएनयू में फीस वृद्धि के विरोध और नये छात्रों की प्रवेश प्रक्रिया में बाधा डालने के लिए हुई तोड़फोड़ के बाद दो गुटों में मारपीट की घटना को सुनियोजित तरीके से तूल दिया गया।

इहो पढ़ींः मलिकाइन के पातीः तेल के खेल में तबाह होई दुनिया, ए मलिकार!

इहो पढ़ींः मलिकाइन के पाती- सांचे बतिया कह के गइले पहिले के पुरनिया

इहो पढ़ींः मलिकाइन के पातीः जेतना के बबुआ ना, ओतना के झुझुना

कोलकाता से मुंबई तक एक साथ कई विश्वविद्यालय केंद्रों पर प्रदर्शन करना और गेट वे आफ इंडिया पर कुछ लोगों के हाथ में “फ्री कश्मीर” की तख्ती लहराना यह साबित करता है कि छात्रों को सामने रखकर जेहादी-शहरी नक्सली ताकतों का नेटवर्क देश में अस्थिरता फैलाने पर उतारू हैं। एक विश्वविद्यालय परिसर की आपराधिक घटना को अतिरंजित कर जो लोग देश की लोकप्रिय सरकार को बदनाम या अस्थिर करने में लगे हैं, वे कभी कामयाब नहीं होंगे।

यह भी पढ़ेंः झारखंड की राजनीति में अगले कुछ दिन काफी सनसनीखेज हो सकते हैं

यह भी पढ़ेंः बिहार में फिर पक रही सियासी खिचड़ी, JDU-BJP में दिख रही दरार

यह भी पढ़ेंः बिहार में चुनावी तैयारी में JDU और RJD, छिड़ा पोस्टर वार

यह भी पढ़ेंः हेमंत सोरेन का नया राजनीतिक अवतार, राष्ट्रीय फलक पर उभरता चेहरा

- Advertisement -