ट्रेन टिकट की बुकिंग आपने करा ली है तो इसे जरूर पढ़ें

0
519
रेलवे ने 30 जून तक ट्रेनों का परिचालन रोक दिया है। हालांकि इस दौरान स्पेशल ट्रेनों का परिचालन जारी रहेगा।  प्रवासी श्रमिकों व छात्रों के लिए स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं। 
रेलवे ने 30 जून तक ट्रेनों का परिचालन रोक दिया है। हालांकि इस दौरान स्पेशल ट्रेनों का परिचालन जारी रहेगा।  प्रवासी श्रमिकों व छात्रों के लिए स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं। 

दिल्ली। ट्रेन टिकट की पुकिंग आप ने करायी है तो इसे जरूर पढ़ें। यह खबर आपके काम की है। लाक डाउन की मियाद 3 मई तक पढ़ाने के कारण कोई ट्रेन नहीं चलेगी। Lockdown की मियाद 3 मई तक बढ़ने के साथ ही ट्रेनों का परिचालन भी इस अवधि में नहीं होगा। रेलवे ने इसकी एडवाइजरी जारी कर दी है। रेलवे के मुताबिक इस अवधि में कोई ट्रेन नहीं चलेगी। प्रीमियम ट्रेनों, मेल/ एक्सप्रेस ट्रेनों, पैसेंजर ट्रेनों, उपनगरीय ट्रेनों, कोलकाता मेट्रो रेल, कोंकण रेलवे आदि सहित भारतीय रेल की सभी यात्री ट्रेन सेवाएं 3 मई तक निलंबित रहेंगी। रेल मंत्रालय ने इसकी सूटवा प्रधानमंत्री के संबोधन के कुछ ही देर बाद जारी कर देगी।

Lockdown की मियाद 3 मई तक बढ़ा दी गयी है। कोरोना की लड़ाई में अतिरिक्त सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। हफ्ते भर लाकडाउन की सख्ती से पालन कराया जाएगा। यानी 20 अप्रैल तक सभी सख्ती से इसका पालन करें। तब तक हम जिन इलाकों में काबू पा लेंगे, वहां सीमित छूट दी जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने चौथे संबोधन में ये बातें कहीं। इसके साथ ही ट्रेन टिकट के बावजूद 3 मई तक अब यात्रा मुश्किल होगा।

- Advertisement -

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में सात बातों के लिए आम आदमी का साथ मांगा है। पहली बात यह कि अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें। खासकर वैसे व्यक्ति, जिन्हें पुरानी बीमारी हो, उनकी हमें Extra Care करने की जरूरत है। ऐसे लोगों को कोरोना से बचाकर रखना है। दूसरी यह कि  लॉकडाउन और Social Distancing की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें। घर में बने फेसकवर या मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें। तीसरी बात- अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें। गर्म पानी, काढ़ा, इनका निरंतर सेवन करें।

यह भी पढ़ेंः Lockdown की मियाद 3 मई तक बढ़ी, जानिए क्या कहा मोदी ने

प्रधानमंत्री की चौथी सलाह- कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल App जरूर डाउनलोड करें। दूसरों को भी इस App को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें। पांचवीं बात- जितना हो सके, उतने गरीब परिवारों की देखरेख करें। उनके भोजन की आवश्यकता पूरी करें। कोई भूखा न सोए। छठी बात- आप अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम कर रहे लोगों के प्रति संवेदना रखें, किसी को नौकरी से न निकालें। सातवीं बात- देश के कोरोना योद्धाओं, हमारे डॉक्टर-नर्सेस, सफाई कर्मी-पुलिसकर्मी का पूरा सम्मान करें।

यह भी पढ़ेंः कोरोना के बहाने झारखंड में सामाजिक समरसता बिगड़ने नहीं देंगेः हेमंत

- Advertisement -