झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 32, सर्वाधिक रांची में

0
66
कोरोना से बचाव व लॉकडाउन को ध्यान में रखते हुए बिहार सरकार ने अभी तक 8,538 करोड़ रुपये से अधिक की राशि खर्च की है। लोगों को अनेक प्रकार से राहत पहुंचाई जा रही है।
कोरोना से बचाव व लॉकडाउन को ध्यान में रखते हुए बिहार सरकार ने अभी तक 8,538 करोड़ रुपये से अधिक की राशि खर्च की है। लोगों को अनेक प्रकार से राहत पहुंचाई जा रही है।

रांची। झारखंड में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 32 हो गयी है। इनमें सर्वाधिक मरीज हिंदपीढ़ी के हैं। 17 अप्रैल को भी 3 कोरोना पाजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें हिंदपीढ़ी से एक और आजाद बस्ती से 2 लोग शामिल हैं। रिम्स निर्देशक ने रिपोर्ट की पुष्टि की है। लाक डाउन के पालन के लिए सख्ती की जा रही है। प्रशासन बार-बार लोगों से अपील कर रहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु लाक डाउन का कठोरता से पालन करें। घर पर रह कर ही इस बीमारी के संक्रमण से बचा जा सकता है।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार अभी तक  राज्य में 3,344 लोगों का कोविड-19 टेस्ट कराया गया, जिनमें से 29 पॉजिटिव पाए गये एवं 2,881 लोगों का टेस्ट नेगेटिव आया। वहीं 434 लोगों के टेस्ट का रिजल्ट अभी प्रतीक्षा में है। पॉजिटिव पाए गए लोगों में 9 बोकारो, 2 हज़ारीबाग़, 1 गिरिडीह, 1 कोडरमा, 1 सिमडेगा, 1 धनबाद एवं 14 रांची के हैं। कोरोना से बचाव के लिए राज्य में 4,049 क्वॉरेंटाइन सेंटर कार्य कर रहे हैं, जिनमें 9,493 लोगों को क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है। वहीं 95,801 लोग होम क्वॉरेंटाइन में रह रहे हैं। अभी तक 1,08,899 लोगों ने अपना क्वॉरेंटाइन पूरा कर लिया है।

- Advertisement -

सरकार अपने पूरे संसाधनों का इस्तेमाल कर रही

कोविड-19 से उत्पन्न इस महा संकट में हर कोई अपना पूरा सहयोग दे रहा है। कोरोना से बचाव के लिए राज्य सरकार अपने पूरे संसाधनों का इस्तेमाल कर रही है। वहीं कई एनजीओ एवं कंपनी भी इस पुनीत कार्य में सरकार की मदद कर रहे हैं। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार अभी तक राज्य में एनजीओ एवं वोलेंटियर की 865 टीमों द्वारा 25,71,361 लोगों को खाना खिलाया गया है।  इसी के क्रम में मेसर्स मदन प्रसाद इंजीनियर्स एंड बिल्डर्स, आदित्यपुर के निदेशक द्वारा लोकहित के लिए हाई रिस्क के लोगों के सहयोग हेतु 500 पीपीई  किट एवं 500 एन-95, एफएफ 3 फेस मास्क सरकार को उपलब्ध कराये गये।

यह भी पढ़ेंः झारखंड में राशन कार्ड जिनके पास नहीं, उन्हें भी मिलेगा अनाज

खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा  लोगों तक विभिन्न योजनाओं के तहत  राशन एवं खाना पहुँचाने का कार्य किया जा रहा है। विभाग द्वारा  प्राप्त आंकड़ों के अनुसार अब तक 1,65,570 लोगों तक अनाज पहुंचा दिया गया है। वहीं नन पीडीएस के तहत 2,00,549 लोगों तक अनाज उपलब्ध करा दिया गया है। दाल-भात की विभिन्न योजनाओं में अब तक 59,24,508 लोगों को खाना खिलाया गया है।  सरकार द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न राहत  कैम्पों में 1,66,237 प्रवासी मजदूरों को खाना खिलाया जा रहा है। साथ ही आकस्मिक राहत पैकेट का वितरण भी जरूरतमंदों के बीच किया जा रहा है। अबतक 42,963 लोगों तक विशेष राहत सामग्री के पैकेट पहुंचाये गए हैं।

कोरोना संबंधी समस्या के लिए 181 पर कॉल करें

राज्य स्तरीय कोरोना नियंत्रण केंद्र में कोविड-19 से संबंधित किसी भी तरह की सहायता हेतु टॉल फ्री नम्बर 181 पर सम्पर्क किया जा सकता है। नियंत्रण केंद्र में कोविड-19 से संबंधित अब तक  कुल 16,385 मामले आये, जिनमें से 11,162 मामलों पर सहायता उपलब्ध कराई जा चुकी है। शेष बचे मामलों पर हर संभव कार्रवाई की जा रही है। नियंत्रण केंद्र में खाद्य आपूर्ति से संबंधित  7,686, विधि व्यवस्था से संबंधित 772, चिकित्सा से संबंधित 873, झारखंड में फंसे व्यक्ति से संबंधित 824 एवं अन्य 1,007 शिकायतों का समाधान किया जा चुका है।

यह भी पढ़ेंः कोरोना के बहाने झारखंड में सामाजिक समरसता बिगड़ने नहीं देंगेः हेमंत

- Advertisement -