कोल्हान के लोग अब लाल पानी पीने को मजबूर नहीं रहेंगे

0
28
झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास
झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास

गांव-गांव पहुंचेगा पीने का साफ पानी, गरीबों के जीवन में बदलाव आयेगाः रघुवर  

  • मुख्यमंत्री ने पश्चिमी सिंहभूम में 30, सरायकेला खरसांवा में 28 और पूर्वी सिंहभूम की 39 सरकारी एवं निजी तालाब जीर्णोद्धार योजनाओं का शिलान्यास किया
  • मुख्यमंत्री ने 35 स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र (हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर) का उद्घाटन व 250 मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र का शुभारंभ किया
  • चक्रधरपुर में 84 करोड़ रुपये की लागत से सोलर ऊर्जा के माध्यम से 1200 पेयजलापूर्ति योजनाओं का सीएम ने किया शुभारंभ
  • 5 लघु एवं मध्यम जलापूर्ति योजना जल्द पूरा होगी जिससे जिले के 15 हजार लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध मिलेगा
  • सुकन्या योजना के तहत पूरे राज्य में अब तक 21 करोड़ का वितरण हुआ

चक्रधरपुर/चाईबासा। कोल्हान के लोग अब लाल पानी पीने को मजबूर नहीं रहेंगे। गांव-गांव पहुंचेगा पीने का साफ पानी पहुंचेगा। यह वादा झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किया। उन्होंने कहा कि कोल्हान के लोग लाल पानी पीने को मजबूर हैं। पूर्व में इस ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। चक्रधरपुर में 84 करोड़ की लागत से सोलर ऊर्जा के माध्यम से 1200 पेयजलापूर्ति योजना का शुभारंभ हो रहा है। तीन माह के अंदर इन योजनाओं को पूर्ण करने का निदेश दिया जा चुका है। सभी आदिवासी एवं दलित गांवों में योजना को लागू किया जाएगा। 5 लघु एवं मध्यम जलापूर्ति योजना जल्द पूरी होने वाली हैं। इस योजना से 15 हजार लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध होगा। ये बातें मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने चक्रधरपुर स्थित चैनपुर में आयोजित जनचौपाल में कहीं।

यह भी पढ़ेंः जेडीयू के प्रशांत किशोर को ममता बनर्जी ने बंगाल में दे दिया जाब

- Advertisement -

यह भी पढ़ेंः CII ने माना, बिहार का वित्तीय प्रबंधन देश में सबसे बेहतर

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य है झारखण्ड के सभी गांवों को आदर्श गांव बनाने का। यही वजह है कि ग्रामीण स्ट्रीट लाइट योजना का शुभारंभ किया गया है, ताकि गांव भी शहर की तरह रोशन रहें। साथ ही गांव की सड़कों को दुरुस्त करने की भी योजना है। आपके गांव की सड़कों को पेभर ब्लॉक के माध्यम से ठीक किया जाएगा। राज्य के सभी 32 हजार गांवों में स्ट्रीट लाइट, पेभर ब्लॉक और सौर ऊर्जा से पेयजलापूर्ति करने की दिशा में कार्य हो रहा है।

यह भी पढ़ेंः हिंदी साउथ वाले भी सीखना चाहते हैं, विरोध राजनीतिक है

जनचौपाल में गोंडा गांव की रीता देवी ने कहा कि महिलाओं के स्वावलंबन और रोजगार उपलब्ध कराने के लिए सरकार प्रशिक्षण की व्यवस्था करे। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि चाईबासा और मनोहरपुर में सिलाई प्रशिक्षण हेतु प्रशिक्षण सेंटर खुलेगा। जहां 300 महिलाओं को प्रशिक्षण देने की योजना है। चक्रधरपुर में जूता बनाने का प्रशिक्षण देने हेतु सेंटर की स्थापना होगी, ताकि प्रशिक्षण प्राप्त कर महिलाएं सरकारी स्कूलों में उपयोग होने वाले जूता का निर्माण कर स्वावलंबन की ओर अग्रसर हो सकें।

यह भी पढ़ेंः बिहार, बंगाल समेत देशभर के विपक्षी दलों में मचा है घमासान 

जन चौपाल में ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को बताया कि चक्रधरपुर चाईबासा सड़क के बगल से होकर चैनपुर गांव आने वाली सड़क बेहद खराब है। इसे सरकार जल्द से जल्द बनवाए। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे खुद इस सड़क से होकर आ रहे हैं और उसकी हालत से वाकिफ हैं। पूर्व में ही इस सड़क का चयन निर्माण के लिए हो चुका है। जुलाई माह में सड़क निर्माण कार्य प्रारंभ होगा। आप सभी ग्रामीण अपनी निगरानी में एक गुणवत्तापूर्ण सड़क का निर्माण कराएं।

यह भी पढ़ेंः बंगाल में समय से पहले हो सकता है विधानसभा चुनाव

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद से जनता और शासन के बीच दूरी बनी रही। ईमानदारी से कार्य नहीं हुआ। जिसका परिणाम है कि हम विकास की दौड़ में पीछे रह गए। घोटाला और भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया गया। 2014 के बाद यह प्रयास किया गया कि शासन और जनता के बीच की खाई को पाटा जाए। वर्तमान सरकार जन चौपाल के माध्यम से आपके बीच आकर आपकी समस्याओं से रूबरू हो रही है, ताकि उन समस्याओं का निराकरण यथाशीघ्र किया जाए। झारखंड सरकार पारदर्शी तरीके से कार्य करते हुए सरकार की योजनाओं का लाभ आप तक पहुंचाना चाहती है, इसके लिए पूर्व में सक्रिय बिचौलियों को समाप्त करना सरकार की प्राथमिकताओं में है।

यह भी पढ़ेंः बिहार में बैट्री चालित वाहनों पर 50 % कम टैक्सः सुशील मोदी

मुख्यमंत्री ने कहा कि उज्जवला योजना के तहत झारखंड में अब तक 29 लाख महिलाओं को योजना से लाभान्वित किया गया है। 14 लाख अन्य महिलाओं को दिसंबर 2019 तक योजना से आच्छादित किया जाएगा। राज्य सरकार योजना के तहत अब पहला रिफिल भराने का कार्य भी करेगी।

यह भी पढ़ेंः बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले ‘बंगाली-बिहारी’ मुद्दे को हवा

मुख्यमंत्री ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य के 57 लाख लोगों को जोड़ा गया है। राज्य सरकार ने इस योजना से लोगों को लाभान्वित करने के लिए 400 करोड़ रुपये के अतिरिक्त बजट का प्रावधान किया है। अब तक 32 लाख गोल्डन कार्ड का वितरण किया जा चुका है। गोल्डन कार्ड प्राप्त करने के लिए देय राशि 30 रुपये अब किसी को देने की आवश्यकता नहीं । राज्य सरकार मुफ्त में यह कार्ड लोगों को देगी।

यह भी पढ़ेंः झारखंड के किसानों को साहूकारों से मिली मुक्तिः मुख्यमंत्री

- Advertisement -