कोरोना वायरस के लिए है लॉकडाउन, जनता के लिए नहींः BJP

0
39
बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल
बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल

पटना। कोरोना वायरस के लिए है लॉकडाउन, जनता के लिए नहीं। लोगों को इससे घबराने की जरूरत नहीं है। लॉकडाउन का निर्णय प्रशंसनीय है। बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि  बिहार में  कोरोना के बढ़ते हुए प्रभाव एवं खतरे को देखते हुए सरकार द्वारा लिया गया लॉकडाउन का निर्णय प्रशंसनीय है। इससे आम जनता को किसी तरह की तकलीफ नहीं होने दी जाएगी। वास्तव में यह लॉकडाउन हमारे लिए नहीं, बल्कि कोरोना वायरस के लिए लगाया है, हमें सिर्फ घर के भीतर रह कर सरकार को सहयोग करना है।

यह भी पढ़ेंः COVID 19 : कोरोना के चलते देश के कई बड़े मंदिर बंद

- Advertisement -

इस लॉकडाउन से किराना दुकानों, पेट्रोल पंपों, फलों और सब्जियों की दुकानों, एटीएम, दवा-दुकानों, डेयरी जैसी आवश्यक सेवाओं को मुक्त रखा गया है। इसलिए किसी को घबरा कर चीजों की अनावश्यक खरीदारी करने की आवश्यकता नहीं है। संकट के इस समय आपसी सहयोग बहुत आवश्यक है। आपसी एकता से ही कोरोना का मुकाबला किया जा सकता है। लोगों से मेरी अपील है कि जनता कर्फ्यू की ही तरह इस लॉकडाउन को भी सफल बनायें, तभी इस महामारी पर काबू किया जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः लाकडाउन से न घबराएं, झारखंड में खाद्यान्न पर्याप्त

डॉ जायसवाल ने कहा कि लोगों को यह समझना होगा कि यह लॉकडाउन उनके और उनके परिवार की भलाई के लिए है। अलग-अलग राज्यों से लोगों का वापस आना जारी है, कौन संक्रमण का शिकार है और कौन नहीं, यह कोई नहीं जानता। इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग अपनाना जरूरी है। इसके अलावा लोगों से हमारी अपील है कि घर के बाहर दूसरों से यथासंभव दूरी बना कर रहें तथा बिना हाथ धोए अपना चेहरा कभी न छुएँ। बरती गयी सावधानियां ही कोरोना से बचाव का सर्वोतम उपाए है।

यह भी पढ़ेंः कोरोना से बिहार में किसी की मौत होने पर 4 लाख मिलेंगे

कंपनी मालिकों और व्यापारियों से अपील करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस लॉकडाउन के कारण बहुत से लोग अपने ऑफिसों और दफ्तरों में नहीं जा सकेंगे। कंपनियां एक परिवार की ही तरह होती हैं। सभी कंपनी मालिकों से मेरा निवेदन है कि संकट के इस समय अपने कर्मियों का सहारा बनें, उनके वेतन में किसी तरह की कटौती न करें। इसके अलावा व्यापारी बन्धुओं से मेरा अनुरोध है कि बाज़ार में इस समय किसी भी तरह की कालाबाजारी और जमाखोरी न होने दें। अगर कोई ऐसा करने की कोशिश करे तो उसकी सूचना तुरंत प्रशासन को दें। आपदा की इस घड़ी में हम सबके अपने-अपने दायित्वों का निर्वहन करके ही कोरोना को परास्त कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः चाईनीज बीमारी कोरोनावायरस की रोकथाम में होम्योपैथ कारगर

- Advertisement -