कोरोना वायरस को मात देने के लिए जुटे NSS बंगाल के स्वयंसेवक

0
113
PM नरेंद्र मोदी ने 19 जून को सर्वदलीय बैठक बुलायी है। PM नरेंद्र मोदी के साथ सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों की बैठक उस दिन शाम 5 बजे होगी।
PM नरेंद्र मोदी ने 19 जून को सर्वदलीय बैठक बुलायी है। PM नरेंद्र मोदी के साथ सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों की बैठक उस दिन शाम 5 बजे होगी।

कोलकाता। कोरोना वायरस को मात देने के लिए जनता कर्फ्यू की पीएम की अपील को सफल बनाने में NSS पश्चिम बंगाल के स्वयंसेवक जी-जान से जुट गये हैं। सारी दुनिया कोरोना वायरस कोविड- 19 जैसी महामारी से त्रस्त है। इटली, अमेरिका, चीन जैसे विकसित राष्ट्र इससे बुरी तरह प्रभावित हैं। भूमंडलीकरण के दौर में हमारा देश भी इससे अछूता नहीं रहा। दिन-प्रतिदिन कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसे लेकर लोगों में दहशत का माहौल उत्पन्न हो गया है। परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि इस बीमारी से लड़ने के लिए लोगों को एक साथ आना होगा। उन्होंने लोगों से एक दिन घर पर रहने की अपील की है। 22 मार्च को प्रधानमंत्री ने जनता कर्फ़्यू लगाने की बात कही है।

यह भी पढ़ेंः नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश में इतिहास दोहराने से खुद को बचाया

- Advertisement -

ऐसे में एनएसएस कोलकाता के रीजनल सेन्टर द्वारा कोरोना वायरस महामारी को रोकने में सहयोग के लिए 22 मार्च (रविवार) को जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की घोषणा की गई है। इसका प्रचार-प्रसार कर लोगों से अपील की जा रही है  कि वह सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक अपने घरों में रहें। आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर बाहर कोई भी बाहर न निकले। यात्राओं से परहेज करें। सार्वजनिक स्थलों पर ना जाएं। भीड़भाड़ से दूर रहें।

यह भी पढ़ेंः फणीश्वर नाथ ‘रेणु’ सार्वजनिक उपस्थिति के कलाकार थे

NSS के स्वयंसेवक  सोशल मीडिया पर जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए सक्रिय भागीदारी निभा रहे हैं। एनएसएस की सभी यूनिट अपने संबंधित संस्थानों में इस जनता कर्फ्यू के लिए लोगों को जागरूक कर रही हैं। स्वयंसेवक जनता से  अनुरोध करते हुए संदेश लिख रहे हैं। फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर जैसे तमाम सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर संदेश जारी कर लोगों से अपील की जा रही है कि वे इसे सफल बनाएं।

यह भी पढ़ेंः मैला आँचल का रूसी अनुवाद और फणीश्वर नाथ रेणु का संकट

इसके साथ ही NSS के स्वयंसेवक जनता कर्फ्यू के बारे में 10 अन्य लोगों को सूचित करने और सभी को कर्फ्यू का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करने का आग्रह कर रहे हैं। साथ ही वे खुद व्यक्तिगत तौर पर यह संकल्प ले रहे हैं कि ‘मैं संकल्प लेता हूं कि प्रधानमंत्री द्वारा किये गए निवेदन 22 मार्च को जनता कर्फ़्यू का पूर्ण रूप से पालन करूंगा। मैं 22 मार्च को शाम पांच बजे राष्ट्ररक्षकों  का थाली बजा कर उत्साहवर्धन करूंगा तथा आप सभी से भी निवेदन करता हूं कि प्रधानमंत्री जी के आह्वान पर जनता कर्फ़्यू का पालन करें।”

यह भी पढ़ेंः COVID 19 : कोरोना के चलते देश के कई बड़े मंदिर बंद

- Advertisement -